लखनऊ॥ योगी सरकार ने नकल पर नकेल कसने के लिए सरकार ने 57 केंद्रों को परीक्षा लेने से रोक लगा दी है तो वहीं 111 परीक्षा केंद्र के 178 निरीक्षकों के साथ-साथ 70 से ज्यादा छात्रों पर सख्त कदम उठाते हुए एफआईआर दर्ज की गई है।

जानकारी के मुताबिक लखनऊ में सूबे के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की जिसके बाद देर रात ये फैसला लिया गया।

इस मीटिंग में शिक्षा अधिकारी मौजूद थे। वहीं सरकार की ओर से ये भी निर्देश जारी किया गया है कि अगर कोई शिक्षक नकल कराते हुए पकड़ा गया तो उसे बर्खास्त कर दिया जाएगा।

उत्तर प्रदेश में बोर्ड परीक्षाएं चल रही है और हर बार की तरह इस बार भी नकल करने की शिकायतें काफी मिली जिसके चलते योगी सरकार ने नकलचियों को सबक सिखाने कुछ दिन पहले हेल्पलाइन नंबर सहित वाट्यअप नंबर जारी किया है। जिस पर कोई भी व्यक्ति नकल के संबंध में सूचना दे सकता है।

ये हेल्पलाइन नंबर 0522-2236760, 9454457241 है। शिकायत मिलते ही संबंधित जिले के अधिकारी तुरंत इस पर कार्यवाई करेंगे। बताया जा रहा है ये नंबर हर दिन 12 घंटे काम करेगा और इस दौरान आप इस पर नकल संबंधित सूचना दे सकते है।

नई दिल्ली॥ चीन की मोबाइल निर्माता कंपनी ओप्पो के नोएडा स्थित दफ्तर के स्टाफ ने देश के राष्ट्रीय ध्वज के अपमान से नाराज होकर जोरदार विरोध दर्ज किया।

कंपनी के वरिष्ठ चीनी मूल के अधिकारी पर आरोप है कि उसने कंपनी की दीवार पर लगे राष्ट्रीय धव्ज के पोस्टर को फाड़कर कूड़ेदान में फेंक दिया था।- इसके विरोध में स्टाफ ने आठ घंटे से अधिक पुरजोर विरोध दर्ज करा अपनी नाराजगी जाहिर की।

स्टाफ के सदस्यों का विरोध आरोपी अधिकारी सुहाउ के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद ही ठंडा पड़ा।

'भारत माता की जय' के नारे लगा रहे कर्मचारियों ने पहले कंपनी की मेन बिल्डिंग की दीवार पर एक पोस्टर लगाया। इसके वाद विरोध के तौर पर सोमवार की देर रात तक वहां नारे लगाते हुए डटे रहे।

सेक्टर 63 में ओप्पो ऑफिस के बाहर प्रदर्शनकारियों ने सड़क बंद कर दिया। इसके साथ ही प्रदर्शनकारी कर्मचारियों ने विरोध के तौर पर कंपनी बिल्डिंग की दीवारों पर ऐसे कई सारे और पोस्टर लगाए।

 

नई दिल्ली॥ अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प फ्लोरिडा में छह और सात अप्रैल को आधिकारिक रूप से राष्ट्रपति की ओर से आयोजित होने वाले मार-ए-लागो रिट्रीट में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात करेंगे।  ट्रम्प के इस वर्ष 20 जनवरी को राष्ट्रपति पद संभालने के बाद दोनों नेताओं के बीच यह पहली मुलाकात होगी। पिछले माह ट्रम्प ने फ्लोरिडा के पॉम बीच पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का मार-ए-लागो रिट्रीट में स्वागत किया था।

नई दिल्ली॥ आज लोकसभा में जीएसटी से जुड़े चार बिलों पर चर्चा होगी। खबरों के मुताबिक, लोकसभा अध्यक्ष ने टैक्स रिफॉर्म बिल पर चर्चा के लिए आठ घंटे आवंटित किए हैं।

वित्त मंत्री ने सेंट्रल जीएसटी, इंटीग्रेटेड जीएसटी, यूनियन टेरिटरी जीएसटी और कॉम्पेंसेशन जीएसटी बिलों को एक साथ सदन के पटल पर रखा है।

जीएसटी बिल एक नजर में

- डिमेरिट गुड्स पर सेस: पान मसाला पर मैक्सिमम 135%, सिगरेट पर 290% लग्जरी कार और कार्बोनेटेड ड्रिंक्स पर 15% तक सेस लगाने का प्रावधान है।

- कर चोरी पर जेल: ट्रांजेक्शन छिपाने या कर चोरी करने पर गिरफ्तारी हो सकती है। दोषी व्यक्ति को 5 साल तक की जेल और/या जुर्माना।

- मुनाफाखोरी पर लगाम: जिन वस्तुओं पर कम टैक्स लगेगा, उसका फायदा कस्टमर को मिलेगा। ऐसा नहीं करने वालों पर कार्रवाई होगी। नजर रखने के लिए अथॉरिटी बनेगी।

- छोटे बिजनेस को राहत: सालाना 50 लाख रुपए तक बिजनेस करने वाले मैन्युफैक्चरर्स को टर्नओवर के 1% तक टैक्स देना होगा। सप्लायर्स के लिए 2.5% है।

- ई-कॉमर्स पर भी जीएसटी: ई-कॉमर्स कंपनियां अपने प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने वाले सप्लायर्स को भुगतान करने से पहले टैक्स काटेंगी। यह अधिकतम 1% होगा।

 

 

मुंबई॥ 'द कपिल शर्मा शो' के फैन्स के लिए खुशखबरी है। पिछले दिनों कपिल शर्मा और सुनील ग्रोवर के बीच हुई लड़ाई सुलझती नजर आ रही है। सूत्रों से मिल रही खबरों के मुताबिक कपिल से झगड़े के बावजूद सुनील ग्रोवर यह शो नहीं छोड़ेंगे। यानी आने वाले एपिसोड्स में डॉ गुलाटी अपने फैंन्स को हंसाते नजर आएंगे। बताया जा रहा है कि सुनील ही नहीं बल्कि चंदन प्रभाकर और अली असगर भी शो में वापसी करेंगे।

आपको बता दें कि पिछले दिनों फ्लाइट में हुई लड़ाई के बाद सुनील ने शूटिंग करने से मना कर दिया था। सिर्फ सुनील ही नहीं बल्कि कपिल के बुरे बर्ताव के कारण अली असगर, चंदन प्रभाकर और सुगंधा मिश्रा ने भी कपिल का साथ छोड़ दिया था।

 

नई दिल्ली॥ एएफसी एशियन कप क्वालिफायर फुटबॉल मैच में भारत ने कप्तान सुनील छेत्री के आखिरी मिनट के गोल की बदौलत म्यांमार को 1-0 से हरा दिया। इस जीत के साथ भारत ने म्यांमार को उसी के घर में हराने का 64 वर्ष पुराना रिकॉर्ड भी तोड़ दिया। भारत का अगला मैच अब 13 जून को किर्गिस्तान के खिलाफ होगा।भारतीय टीम इस समय पिछले 11 मैचों में 9 जीत के साथ शानदार फॉर्म में चल रही है। मेजबान टीम की युवा टीम और भारत के विदेश में ख़राब रिकॉर्ड के कारण म्यामांर को कमजोर मानने की भूल कौन कर सकता था।

पहले हाफ में दोनों टीमों के डिफेंडरों ने सफलतापूर्वक एक-दूसरे के खेल को रोकने में बाजी मारी तथा गोल की किसी भी सम्भावना को समाप्त कर दिया। दूसरे हाफ के खेल में घरेलू दर्शकों को टीम से काफी उम्मीदें थी लेकिन भारतीय खिलाड़ियों ने उन उम्मीदों पर पानी फेरते हुए मेजबान टीम को अंतिम मिनट तक गेंद को गोल में नहीं पहुंचाने दिया। भारत से फीफा रैंकिंग में 40 स्थान पीछे म्यांमार ने शानदार खेल दिखाया।

अंतिम मिनट में दोनों टीमों का स्कोर 0-0 था और ऐसा लग रहा था कि यह एक ड्रॉ के रूप में समाप्त होगा लेकिन सुनील छेत्री को यह मंजूर नहीं था। उन्होंने जेजे और उदांता के पास पर शानदार गोल दागते हुए भारत को 1-0 से आगे कर दिया। हालांकि एक मिनट का अतिरिक्त समय जरुर मिला लेकिन उसमें भी यह स्कोर बरक़रार रहा। सुनील छेत्री ने करियर का 53वां अन्तर्राष्ट्रीय गोल दागा, वहीँ भारत ने पिछले 6 मैचों में लगातार जीत दर्ज करने का कीर्तिमान भी बनाया।इसके साथ ही इण्डिया को तीन अंक प्राप्त हुए। 64 वर्षों में पहली बार इंडिया ने म्यांमार में इस प्रकार की जीत दर्ज की है।

नई दिल्ली॥ नरेंद्र मोदी सरकार अब जल्द ही क्रांतिकारी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को आधिकारिक तौर पर शहीद का दर्जा दे सकती है। भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु तीनों को ही अभी तक दस्‍तावेजों में शहीद का दर्जा नहीं मिला और इसकी तैयारी में भारत सरकार जुट गई है। गृह मंत्रालय ने इस चीज को लेकर काम शुरू कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट के  मुताबिक गृह राज्य मंत्री हंसराज गंगाराम अहीर ने इस मामले से जुड़ी रिपोर्ट मांगी है। बता दें कि भगत सिंह को शहीद का टाइटल देने के मामले को लेकर 2013 में एक आरटीआई डाली गई थी। खबर के मुताबिक अहीर ने बताया कि अंग्रेजों ने भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को क्रांतिकारी आतंकी कहा था, लेकिनआजाद भारत में हम ऐसा नहीं कह सकते। इसलिए अब गृह मंत्रालय सभी जगहों पर रिकार्ड में सुधार करवाने का काम करेगा।

 

नई दिल्ली॥ एक बार फिर रेलवे में दिए जाने वाले खाने पर सवाल खड़े हो गए हैं। इस बार नई दिल्ली-सियालदह राजधानी एक्सप्रेस में परोसा गया खाना खाकर छह पैसेंजर बीमार हो गए, जिसके बाद लोगों ने दो स्टेशनों पर हंगामा किया।

इस घटना के बाद केंद्रीय मंत्री और आसनसोल से सांसद बाबुल सुप्रियो ने कहा कि उन्हें भी कई बार राजधानी एक्सप्रेस में खराब क्वॉलिटी का खाना मिला है। सुप्रियो ने भरोसा दिलाया कि वह इस मुद्दे को रेल मंत्री सुरेश प्रभु के समक्ष उठाएंगे और अगर जरूरत पड़ी तो खुद ट्रेन में खाने की क्वॉलिटी की जांच करेंगे।

एक महिला यात्री ने कहा, ‘ट्रेन में खाने की क्वॉलिटी बेहद घटिया है और यह समय पर परोसा भी नहीं जाता। जब लोग ऐसी ट्रेनों से यात्रा के लिए मोटी रकम चुकाते हैं, तो वे खाने की बेहतर क्वॉलिटी और सेवाओं की उम्मीद करते हैं, लेकिन ऐसा अकसर नहीं होता। इस ट्रेन के कम से कम छह पैसेंजर सोमवार रात का खाना खाकर बीमार पड़ गए।’

ईस्ट रेलवे के अधिकारियों ने माना कि उन्हें शिकायत मिली है। उन्होंने कहा कि जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। ईस्ट रेलवे के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘ऐसा हमेशा नहीं होता है। ट्रेन में लगभग 1,200 यात्री सवार थे, जिनमें से 5-6 यात्रियों ने खाने की क्वॉलिटी को लेकर शिकायत की। हम मामले की जांच कर रहे हैं। उचित कार्रवाई की जाएगी।

नई दिल्ली(25 मार्च): टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के लिहाज से अहम धर्मशाला टेस्ट मैच में उस समय झटका लगा, जब कप्तान विराट कोहली कंधे की चोट के चलते टीम से बाहर हो गए।

माना जा रहा था कि उनकी जगह टीम में किसी बल्लेबाज को शामिल किया जाएगा, लेकिन टीम प्रबंधन ने एक और स्पिनर को शामिल करना उचित समझा।

यह स्पिनर भी विलक्षण है, क्योंकि इसकी गेंदबाजी का अंदाज जुदा है। इस तरह के स्पिन गेंदबाजों को 'चाइनामैन बॉलर'

कहा जाता है। विराट की जगह प्लेइंग इलेवन में शामिल इस गेंदबाज का नाम है कुलदीप यादव।

 

कानपुर के कुलदीप यादव आईपीएल के दौरान चर्चा में आए थे, जब उन्होंने मुंबई इंडियंस के एक प्रैक्टिस मैच में सचिन तेंदुलकर को चकमा दे दिया था।

सचिन जब आए, तो उनके सामने एक अंजान-सा युवा गेंदबाज था। उसने गेंद फेंकी। गेंद ऑफ स्टंप के बाहर पिच हुई और तेजी से अंदर की ओर आई, फिर क्या था- सचिन का मिडिल स्टंप उड़ गया। इससे तेंदुलकर भौचक रह गए।

 बाद में 18 साल के कुलदीप यादव ने कहा कि सचिन पाजी को मालूम ही नहीं था कि वे चाइनामैन गेंदबाज हैं। उनके अनुसार यह बात केवल कोच शॉन पोलक को पता थी।

फिर क्या था कुलदीप छा गए। इसके बाद कुलदीप यादव नेशनल क्रिकेट एकेडमी में टीम इंडिया की नई 'दीवार' चेतेश्वर पुजारा को भी अपनी गेंद से चकमा देकर सबका ध्यान खींचा था।

 

 

नई दिल्ली (25 दिसंबर): लोकसभा में  सार्वजनिक जगहों पर थूकने की बढ़ती प्रवृत्ति पर चिंता व्यक्त करते हुए इस पर प्रतिबंध लगाने के लिए कठोर कानून बनाने की मांग की गई।

भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने विश्व टीबी दिवस के बहाने थूकने की प्रवृत्ति पर चर्चा की। इस प्रवृत्ति पर रोक लगाने के लिए कठोर कानून की मांग का सदन में उपस्थित सभी दलों के सांसदों ने समर्थन किया।

लेखी ने शून्यकाल के दौरान कहा कि एनडीएमसी में थूकने की प्रवृत्ति पर रोक लगाने के कई प्रयास किए, लेकिन स्वच्छ भारत अभियान के तहत शौचालय बनाने सहित अन्य प्रावधानों का समर्थन करने वाली मीडिया ने इस मामले में उनका साथ नहीं दिया। लेखी ने कहा कि टीबी का वायरस भी थूक के माध्यम से सबसे अधिक फैलता है।

ऐसे में देश के लिए अब तक महामारी बने रहने वाली टीबी के समूल नाश के लिए सार्वजनिक जगहों पर थूकने के खिलाफ सख्त रुख अपनाया जाना जरूरी है। लेखी ने इस दौरान एड्स सहित कई अन्य बीमारियों से निपटने के मामले में आर्थिक मदद देने वाले नाको सहित कई अन्य एजेंसियों पर भी सवाल खड़ा किया।

 

Page 11 of 17
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…