हम कुछ भी सामान लेने जाते हैं तो पहले चार जगह पूछ लेते हैं किसकी दुकान में कौन सा सामान ज्यादा अच्छा और कम दाम में हैं। हम रेट और क्वालिटी कम्पेयर करते हैं। कई बार हमारे पडोसी बताते हैं कि हम फलां दुकान में गये वहां फलां ऑफर चल रहा था, तब आपको बड़ा अफसोस होता है कि हम क्यों रह गये पीछे। कई बार आपको लगता होगा कि ये बड़े लक्की हैं, मगर अब आप चिंता मत कीजिये लीड इंडिया हर ग्राहक को और हर दुकानदार को लक्की बनाने के लिये आपके क्षेत्र में आ रहा है।

  • हेल्दी कम्प्टीशन का होगा निर्माण
  • हर ग्राहक होगा लक्की ग्राहक
  • घर बैठे ग्राहक कर सकेंगे रेट और क्वालिटी की तुलना

अब तक आपने बिजनेस के पेज पर जो खबरें पढ़ी होंगी उनमें पेट्रोल के दाम बढ़े, रसोई गैस हुई सस्ती जैसी खबरों के अलावा किसी और खबर से आपका ज्यादा सरोकार नहीं होता, क्योंकि ये हमारी रोजमर्रा की जिन्दगी का हिस्सा नहीं हैं।

लीड इंडिया अब आपको बाजार से जुड़ी रोजमर्रा की जरूरत और आपके फायदे की हर खबर देगा। हमारा अखबार आपको बतायेगा कि आपके पास के मार्केट में गुप्ता एम्पोरियम में साड़ी की सेल लगी है, मेघा जनरल स्टोर पर फॉर्चून रिफाइंड के 5 लीटर पैक पर 1 किलो चीनी फ्री मिल रही है, माधवी ब्यूटी पार्लर पर फेशियल करवाने पर आईब्रो मुफ्त बनवायें, होंडा दे रहा है 3 सर्विस पर एक फ्री कार वाश सर्विस। आपकी जरूरत से जुड़ी हर खबर यहां पढ़ने को मिलेगी।

इस तरह के समाचारों से दुकानदार, शोरूम और ग्राहक को सीधा फायदा मिलेगा। इसके अलावा लीड इंडिया के इस पेज का खास आकर्षण छोटे व्यापारियों और दुकानदारों की वो खबरे भी होंगी जैसे उनके पास ग्राहकों के लिये क्या बेस्ट ऑफर है, कितने कम रेट हैं तो उनके ग्राहकों में बढोत्तरी होगी और ग्राहकों को भी फायदा होगा।

यही नहीं हम बतायेंगे कि किस दुकान पर पिछले हफ्ते भारी भीड़ रही, और अगले ह्फ्ते क्या होगा उनकी दुकान का खास ऑफर। इस तरह ना सिर्फ दुकानदार, छोटे बड़े व्यापारियों को लाभ होगा बल्कि बुराड़ी में मिलने वाली बेहतरीन चीजों के बारे में जान पाएंगे और बढ़िया ऑफर के साथ उसे खरीद पाएंगे।

नई दिल्ली॥ ट्रम्प प्रशासन ने साफ किया है कि एच-1बी वीजा फ्रॉड और गलत इस्तेमाल से निपटने के लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे।

हाल ही में जारी पॉलि‍सी मेमोरेंडम में कहा गया है कि कम्प्‍यूटर प्रोग्रामर्स H-1B वीजा के लिए एलिजिबल नहीं होंगे।

यूएससीआईएस ने 31 मार्च को ‘रिसेशन ऑफ द दि‍संबर 22, 2000, गाइडलाइन मेमो ऑन H-1B कम्प्‍यूटर रिलेटेड पोजि‍शन’ नाम से पॉलि‍सी मेमोरेंडम जारी कि‍या था।

खबर के मुताबिक, एच-1बी वीजा देने में सख्ती बरतने का एलान यूएस सिटिजनशिप एंड इमिग्रेशन सर्विस (USCIS) ने कियUSCIS ने कहा, "हमारा मकसद एच-1बी वीजा के गलत इस्तेमाल को रोकना है। इससे अमेरिकी कंपनियों को हाइली स्किल्ड विदेशियों को अप्वाइंट करने में मदद मिलेगी। फिलहाल, यूएस में क्वालिफाइड वर्कर्स की कमी है।"

ये भी कहा गया है कि अगर कोई कंपनी एच-1बी वीजा प्रोग्राम का मिसयूज करती है तो इसका असर अमेरिकी वर्कर्स पर तो पड़ेगा ही, साथ ही सैलरी में कमी आएगी और फॉरेन इम्प्लॉइज को लाने के मौके कम होंगे।

बता दें कि 2015 में डि‍पार्टमेंट ऑफ लेबर द्वारा सर्टि‍फाइड सभी H-1B एप्‍लिकेशन्स में करीब 12 फीसदी हि‍स्‍सा कम्प्‍यूटर प्रोग्रामर्स रहे हैं। इसमें से 41% सबसे कम सैलरी वाली पोजि‍शन पर थे।

नई दिल्ली॥ एक निजी अस्पताल में एक महिला ने जन्म देने के कुछ ही मिनट बाद अपने नवजात शिशु को बाल्टी के पानी में डुबा कर कथित तौर पर उसकी हत्या कर दी।

पुलिस ने मंगलवार को बताया कि शुरुआती जांच में यह पता चला है कि खम्मम जिले की रहने वाली यह महिला अविवाहित थी।

उन्होंने बताया कि पिछले सप्ताह ही उसने प्रयोगशाला तकनीशियन के तौर पर अस्पताल में नौकरी शुरू की थी और वह करीब 6 महीने की गर्भवती थी।

रायदुर्गम पुलिस थाना के इंस्पेक्टर डी. दुर्गा प्रसाद ने बताया, 'अस्पताल को यह पता नहीं था कि वह गर्भवती है।' रविवार को वह शाम की शिफ्ट में आई थी। सोमवार देर रात करीब डेढ़ बजे अस्पताल के कुछ कर्मचारियों ने अस्पताल परिसर में स्थित एक शौचालय से बच्चे के रोने की आवाज सुनी।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि अस्पताल का एक वरिष्ठ प्रबंधक और दो अन्य नर्स घटनास्थल पर पहुंचे। शौचालय के दरवाजे के बीच की दरार से उन्होंने देखा कि महिला नवजात शिशु को बाल्टी के पानी में कथित तौर पर डुबो रही थी।

अधिकारी ने बताया कि उन्होंने जबरन तुरंत दरवाजा खोला और बाल्टी में नवजात को मृत पाया। उन्होंने बताया कि प्रसव के बाद महिला के शरीर से काफी खून बह गया था, जिसके चलते उसे उपचार के लिये उसी अस्पताल में भर्ती कराया गया। अधिकारी ने बताया कि महिला के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया गया है और उससे पूछताछ की जाएगी। पुलिस को आशंका है कि अविवाहित होने के चलते महिला बच्चे को नहीं रखना चाहती थी।

 

नई दिल्ली॥ महर्षि वाल्मीकि के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में राखी सावंत को पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस केस के मामले में राखी सावंत के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था। लुधियाना की एक अदालत ने राखी के खिलाफ ये वारंट जारी किया था।

कंट्रोवर्सी क्वीन कही जाने वाली राखी पर आरोप है कि पिछले साल एक निजी टीवी चैनल पर कार्यक्रम के दौरान महर्षि वाल्मीकि के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। पुलिस ने रविवार को बताया कि शिकायतकर्ता का आरोप  था कि राखी ने ऐसा करके वाल्मीकि समुदाय की भावनाओं को आहत किया है।

 

लीड इंडिया की हर दूसरे हफ्ते लगेगी जनअदालत। जन अदालत में आप अपने क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों, जिम्मेदार अधिकारियों, कर्मचारियों से पूछ सकेंगे सीधे सवाल। आपकी समस्याओं का होगा सीधा समाधान।

किसी भी क्षेत्र के विकास के लिये यह जरूरी होता है कि उस क्षेत्र की जनता और उस क्षेत्र से संबंधित अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों का संवाद हो। परंतु ऐसा संवाद आमतौर से हमारी समाज में देखने को नहीं मिलता। पिछले कुछ वर्षों से जनता दरबार के रूप में जनप्रतिनिधियों ने संवाद स्थापित करना शुरू किया है लेकिन वहां भी वो प्रश्न नहीं उठ पाते जो जनप्रतिनिधियों से पूछे जाने चाहिये।

लीड इंडिया बुराड़ी के विकास में जन अदालत के अपने पेज को बहुत ही महत्वपूर्ण मानता है, क्योंकि इस पेज के माध्यम से हर दूसरे हफ्ते हम उस व्यक्ति को जनता के सामने लायेंगे जिनसे जनता सवाल करना चाहती है। आमतौर से एक क्षेत्र में 15 दिनों में कोई ना कोई व्यक्ति जरूर होता है जो सुर्खियों में रहता है। उनकी चर्चा होती है, चाहे अच्छे काम के लिये चाहे बुरे काम के लिये। तब आपके मन में कई सवाल आते हैं मगर उनका उत्तर आपको नहीं मिल पाता। लीड इंडिया उन शख्सियत से भी आपको रूबरू करवाएगा जिनसे आप सवाल जवाब करना चाहते है।

जन अदालत में आने वाले अतिथि किसी भी क्षेत्र से हो सकते हैं। हो सकता है कि किसी छात्र ने बहुत ही अच्छी उपलब्धी हासिल की हो जो पूरे क्षेत्र के लिये उपलब्धी हो वह भी जन अदालत में आने वाले अतिथि हो सकते हैं। किसी राजनैतिक, सामाजिक, आध्यात्मिक व्यक्ति ने कोई बहुत अच्छा कार्य किया हो या किसी वजह से उनके जनमानस उनके खिलाफ हुआ हो तो लीड इंडिया ऐसे व्यक्तियों को भी जन अदालत में जनता के समक्ष पेश करेगा।  साथ ही लीड इंडिया की जन अदालत में ऐसे अतिथियों  को भी बुलाया जाएगा जो देश के ऐसे जाने माने लोग हों, जो किसी ना किसी तरह बुराड़ी या बुराड़ी के विकास से जुड़े हों।

लीड इंडिया का यह जन अदालत पेज हर दूसरे हफ्ते आयेगा जिसमें जनता की तरफ से जो सवाल होंगे और जो अतिथि की तरफ से जवाब होंगे उन्हे पूर्णतया तथ्यात्मक तरीके से लीड इंडिया में प्रकाशित किया जाएगा।

  • क्षेत्र की जिम्मेदार हस्तियों से जनता करेगी सीधे सवाल जवाब

 

  • हल होंगी मुश्किले, मिलेंगे समाधान

 

  • हर दूसरे हफ्ते लगेगी लीड इंडिया की जन अदालत

 

जन अदालत का आयोजन बुराड़ी के सार्वजनिक स्थान पर किया जाएगा। जिसमें आपके क्षेत्र की खास शख्सियत को आमंत्रित किया जाएगा जो उस हफ्ते चर्चा में होगा या लीड इंडिया के हेल्प लाइन नम्बर पर जनता ने जिसे सम्मन जारी किया होगा। उस शख्सियत से हर तरह के सवाल करने के लिये जनता भी मौजूद रहेगी, जनता की तरफ से लीड इंडिया के संपादक उनसे सवाल जवाब करेंगे।

लीड इंडिया की जन अदालत में अलग अलग क्षेत्र के दिग्गज लोगो को जज के रूप में आमंत्रित करेंगे जो चर्चित हस्ती पर लगे इल्जामों, जनता के सवालों और उस पर उनकी दी गई सफाई का विश्लेषण करके अपना फैसला सुनाएंगे।

नई दिल्ली(3 अप्रैल): कपिल शर्मा को लेकर सोनी एंटरटेनमेंट चैनल साल 2017-18 के लिए कॉन्ट्रैक्ट रीन्यू करने को लेकर असमंजय में हैं। 24 अप्रैल 2016 को आए द कपिल शर्मा शो का पहला एपिसोड बहुत हिट हुआ था जिसकी वजह से सोनी एंटरटेनमेंट काफी खुश था।

वो स्टार कॉमेडियन और उनके को स्टार्स को इस सक्सेस के बदले काफी बड़ी राशि देने के लिए तैयार था। लेकिन अब खबर है कि 106 करोड़ की डील अब रीन्यू नहीं होगी।

खबर है कि सोनी चैनल ने कपिल को अपना एक्ट साथ में करने के लिए एक महीने का समय दे दिया है। एक सूत्र ने एक अंग्रेजी वेबसाइट को बताया कि अगर कपिल अपने शो का ब्वॉयकॉट कर चुके सदस्यों और चैनल की टीआरपी को वापस लाने में सफल हो जाते हैं तो चैनल कॉन्ट्रैक्ट रीन्यू करने को लेकर सोच सकती है।

 शो की टीआरपी लगातार गिर रही है और इस समय यह टॉप 10 से बाहर हो चुका है। कपिल और सुनील की लड़ाई का असर साफ तौर पर नजर आ रहा है। इससे नकारात्मक पब्लिसिटी हुई है। हालांकि सूत्रों के अनुसार सुनील ग्रोवर और उनके साथी चंदन प्रभाकर, सुगंधा मिश्रा और अली असगर का शो पर वापसी करने का कोई मूड नहीं हैं।

 वहीं वरिष्ठ कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को सुनील ग्रोवर की जगह लाया गया है लेकिन वो डॉक्टर गुलाटी का जादू चला पाने में अक्षम हैं।

 

नई दिल्ली॥ काले धन के कुबेरों पर शिकंजा कंसने के लिए मोदी सरकार ने ऑपरेशन ब्लैक मनी शुरू कर दिया है। इसी ऑपरेशन के तहत आज देशभर में 300 से ज्यादा जमाखर्ची (शैल) कंपनियो के ठिकाने पर छापेमारी की जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार, प्रवर्तन निदेशालय की टीम एंट्री आपरेटरों पर कार्रवाई कर रही है। इसी के साथ 300 शैल कंपनियों पर भी कार्रवाई की जा रही है। इन्हीं दोनों के जरिए काले धन को सफेद करने का खेल होता है। बताया जा रहा है कि इस छापेमारी में ईडी के सैंकडों अफसर शामिल है और 16 राज्यों में एक साथ इस तरह की कार्रवाई की जा रही है।

सूत्रों के अनुसार, ईडी की टीम दिल्ली, चंडीगढ़, पटना, रांची, अहमदाबाद, उड़ीसा, बेंगलोर, चेन्नई आदि जगहों पर एक साथ कार्रवाई कर रही है। अब तक के छापे के दौरान अनेक महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुए हैं, जिनमें कई सौ करोड़ के लेनदेन का ब्यौरा मिला है। छापे से अनेक सफेदपोशों में भी हंडकंप मचा हुआ है और उनकी पोल खुलने की आशा है।

ईडी के निदेशक कर्नल सिंह ने कहा, "एंट्री आपरेटर और शैल कंपनी काले धन को सफेद करने में रीढ की हड्डी होते है, ब्लैक मनी के इस खेल में जो भी शामिल पाया जायेगा बख्शा नहीं जाएगा।"

साल 2006 में एक कार्यक्रम में जब लीड इंडिया के एडिटर-इन-चीफ सुभाष सिंह की मिसाइलमैन डॉ कलाम से मुलाकात हुई तो सोचा नहीं था कि उनसे इतना गहरा रिश्ता जुड़ जाएगा। उनके एक सवाल के जवाब में डॉ कलाम ने मीडिया से अपनी उम्मीद दोहराई जिसे वो पहले भी कई मौको पर कह चुके थे। वो मीडिया से उम्मीद करते थे कि मीडिया सकारात्मक खबरों को वरीयता दे और लोगो के काम आये।

इस बात से प्रेरित होकर लीड इंडिया ग्रुप के चेयमैन एंड एडिटर इन चीफ सुभाष सिंह ने डॉ कलाम साहब के संरक्षण में लीड इंडिया अखबार को रजिस्टर्ड कराया और कुछ ही सालों में यह एक स्थापित अखबार बना। कुछ ही वर्षो के बाद लीड इंडिया ने रीजनल अखबारों को मजबूत करने के लिये एक संगठन “लीड इंडिया पब्लिशर्स ऐसोसिएशन (लीपा)” की स्थापना की।

लीड इंडिया की टीम ऐसोसिएशन और लीड इंडिया अखबार के माध्यम से अखबारों और जनता की समस्याओं का नजदीक से अध्ययन कर रही थी अक्सर मीडिया की दशा से चिंतित होकर हम इन विषयों पर डॉ कलाम साहब से चर्चा करते, कभी पत्रों के माध्यम से कभी मुलाकात करके। कलाम साहब अपने सहज और सरल अन्दाज में बहुत महत्वपूर्ण सलाह देते थे जो हमारे लिये हमेशा मार्गदर्शक साबित हुईं।

डॉ कलाम अक्सर कहते थे दिन प्रतिदिन संचार माध्यमों और मीडिया का विकास हो रहा है फिर भी देश के केवल 2% लोगो की समस्याएं ही मीडिया के माध्यम से सामने आ पातीं हैं। ज्यादातर समस्याएं जो सामने आती हैं वो राष्ट्रीय मुद्दो से जुड़ी होती है अथवा किसी मुद्दे की सूचना मात्र भर होती हैं, ऐसे में मीडिया का क्षेत्रीय स्तर पर विकास होना बेहद जरूरी है।

वर्ष 2015 में हैदराबाद में डॉ कलाम लीड इंडिया पब्लिशर्स एसोसिएशन (लीपा) की सालाना बैठक में इसी विषय पर संबोधन करने वाले थे। मगर बैठक से एक महीना पहले 27 जुलाई 2015 को ही उनका निधन हो गया। लीड इंडिया ग्रुप ने उसी सालाना बैठक में उनके आखिरी संबोधन को मूर्त रूप देने का निर्णय किया और एक ऐसे अखबार की रूप रेखा तैयार की जो कलाम साहब की इच्छा को पूरा करता हो। इस तरह लीड इंडिया के बुराड़ी प्रोजेक्ट का जन्म हुआ। इस अखबार का एक ही विजन है कि इस अखबार के माध्यम से बुराड़ी की जनता की सेवा हो सके उनकी समस्याओं को उठाया जा सके। बाद में इसी पैटर्न पर सभी विधानसभाओं में लीड इंडिया के अलग एडिशंस की शुरूआत की जाएगी।

 तरूणा एस. गौड़ 

 

नई दिल्ली॥ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुरूवार को जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे तमिलनाडु के किसानों से मिलने जाएंगे। इससे पहले एक्टर प्रकाश राज और विशाल भी इन किसानों से मिल चुके हैं।

प्रकाश राज ने कहा, "इनकी आवाज कोई नहीं सुन रहा है, मैं यहां आया हूं ताकि संबंधित मंत्रालय का ध्यान इस तरफ जा सके।" बता दें कि तमिलनाडु में सूखे की मार और कर्ज़ में दबे 100 किसान यहां भूख आंदोलन पर बैठे हैं।

जंतर-मंतर पर विरोध जता रहे ये किसान अपने विरोध के अनूठे तरीके के लिए चर्चा में हैं। ये किसान खोपड़ी लेकर विरोध कर रहे हैं।

इन किसानों की मांग है कि सूखे की वजह से हुए नुकसान के लिए सरकार इन्हें मुआवज़ा दे और इनका कर्ज़ माफ़ कर दे।

 

देहरादून॥ उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग ने बिजली की दरों में 5.72 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की है। बढ़ी हुई दरें 1 अप्रैल से लागू हो जाएंगी।

पिछले साल भी विद्युत नियामक आयोग ने 5 प्रतिशत की बिजली दरों में इजाफ किया था, लेकिन इस बार पिछली बार की तुलना में और ज्यादा इजाफ करते हुए विद्युत नियामक आयोग ने 5.72 प्रतिशत की वृद्धि की है।

ऊर्जा विभाग ने विद्युत नियामक आयोग 13.48 प्रतिशत की बिजली की दरों को बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा था, लेकिन आयोग ने 5.72 प्रतिशत की वृद्धि की है।

आयोग के अध्यक्ष सुभाष कुमार का कहना है कि जो दरें बढ़ाई गई हैं, वह मामूली है और खासकर बीपीएल परिवारों और किसानों को इसमें छूट दी गई है। साथ ही सुभाष कुमार का कहना है कि उत्तराखंड देश के सभी राज्यों में सबसे सस्ती बिजली देने वाले राज्यों में नम्बर 1 पर बना हुआ है।

Page 10 of 17
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…