नई दिल्ली (12 अप्रैल):  आपके पास 1,000 और 500 रुपये के पुराने नोट हैं तो उन्हें लोगों की निगाह से बचा कर और छुपा कर रखिये। कम-से-कम जुलाई के आखिर तक आप इन्हें सुरक्षित रख सकते हैं। क्यों कि सुप्रीम कोर्ट जुलाई में यह तय करेगा कि जो लोग 30 दिसंबर 2016 तक पुराने नोट बंद नहीं कर सके,

क्या उनके लिए सरकार को एक और मौका दिए जाने को कहा जाना चाहिए या नहीं। उम्मीद जताई जा रही है कि सुप्रीम कोर्ट के दखल क बाद सरकार पुराने नोटों को बदलने का एक और मौका दे सकती है। सुप्रीम कोर्ट में संबंधित याचिका पर सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने केंद्र सरकार का पक्ष रखा।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी पर लाए गए अध्यादेश में मियाद बढ़ाकर नागरिकों को नोट जमा कराने का एक और मौका दिए जाने की कोई बाध्यता नहीं है। अध्यादेश में चलन से बाहर हुए नोटों को रखना अपराध माना गया है। दर्जनभर से ज्यादा याचिकाकर्ताओं ने 30 दिसंबर से पहले नोट जमा नहीं करा पाने की विभिन्न वजहों का हवाला दिया है।

नई दिल्ली (12 अप्रैल): आईएसआई के एक अधिकारी की रिहाई पर सौदेबाजी के लिए पाकिस्तान ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई है। आईएसआई का यह अधिकारी हबीब जाहिर भारत से लगी नेपाल सीमा पर भारत के खिलाफ षडय़ंत्रों में शामिल रहा है। हाल ही में भारतीय सुरक्षाबलों की चौकियों में आग लगाने की घटनाओँ में आईएसआई की भूमिका सामने आयी थी। ऐसा माना जा रहा हैं कि आईएसआईएस के इस खुफिया अधिकारी को भारतीय ऐजेंसियों ने 6 अप्रैल को गिरफ्तार किया है। लेकिन उसकी गिरफ्तारी को गुप्त रखा गया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार हबीब जाहिर ही वो अफसर है जिसनेमार्च 2016 में भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव ईरान से अपहरण किया था। और उसे पाकिस्तान लेकर पहुंचा था।  इसलिए यह माना जा रहा है कि हबीब जाहिर को रिहा करवाने के लिए पाकिस्तान ने दबाव बनाया है। भारत और पाकिस्तान, दोनों ही देशों की मीडिया ने दोनों घटनाओं में आपसी लिंक होने की आशंका जताई है। इसके अलावा, सोशल मीडिया पर भी यह चर्चा जोरों पर है कि क्या अपने गायब अफसर की वजह से दबाव में आए पाकिस्तान ने आनन-फानन में कुलभूषण को फांसी देने की योजना बनाई! 

भारतीय खुफिया एजेंसियां लंबे समय से हबीब की ताक में थीं। हबीब को आखिरी बार नेपाल से सटी भारतीय सीमा के पास लुंबिनी में देखा गया था। अब दोनों देशों की मीडिया में कयास लग रहे हैं कि हबीब की गुमशुदगी और जाधव को फांसी की सजा सुनाए जाने का आपस में ताल्लुक हो सकता है। कहा जा रहा है कि जब पाकिस्तान को यह पता चला कि हबीब भारतीय एजेंसियों की हिरासत में हैं, उसके बाद ही जल्दबाजी में जाधव को सजा-ए-मौत देने का ऐलान किया गया। 

नई दिल्ली (12 अप्रैल): काफी दिनों से खबर आ रही थी कि विराट को चोट लगने के बावजद अनुष्का शर्मा उनसे मिलने नहीं पहुंची हैं। इस बात को  लेकर तरह-तरह की अफवाहें भी गरम होने लगी थीं। लेकिन अब एक ताजा फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमें अनुष्का सफेद रंग का कुर्ता पहनी हैं और विराट उनके पीछे चल रहे हैं। दोनों तके फिजियो थैरेपी सेंटर से बाहर निकल रहीं हैं। विराट की बेंगलुरु में फिज़ियोथेरेपी चल रही है इसलिए उन्होंने अभी तक आईपीएल मैच नहीं खेले हैं। इस फोटो और खबर के बाद विराट और अनुष्का के प्रशंसकों में एक बार फिर खुशी की लहर दौड़ गयी है। 

इंदौर (12 अप्रैल): ये कहानी है डिस्ट्रिक्ट हेडक्वार्टर से 50 किमी दूर गंधावल की रहने वाली रेवाबाई की है। 2010 में जब उन्हें बैंक से लोन नहीं मिला तो खुद का बैंक खोला और कई महिलाओं को जोड़ा। सात साल बाद अब इसकी 450 गांवों में शाखा हैं। 3 करोड़ से ज्यादा का कर्ज बांटा गया है वो भी बिना गारंटर के। खास बात कर्ज लेने वालों में से एक भी डिफाल्टर नहीं है।

- रेवाबाई खुद अनपढ़ हैं, लेकिन आज सैकड़ों महिलाओं के लिए जीती-जागती मिसाल हैं।

- उनके खोले बैंक से जुड़ीं महिलाओं की सबकी जरूरतें अब पूरी होने लगीं। बैंक को 'आजीविका मिशन' के तहत रजिस्टर्ड कराया गया था, जिसे नाम मिला- 'समृद्धि बैंक'।

- रेवाबाई का सम्मान नाबार्ड और सीएम शिवराज सिंह चौहान पहले ही कर चुके हैं। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नई दिल्ली में उनका सम्मान करेंगे।

- नई दिल्ली के प्रगति मैदान पर 14 अप्रैल को 'आजीविका फेयर' प्रोग्राम में रेवाबाई को सम्मान मिलेगा।

- रेवाबाई अब भी लगातार समृद्धि बैंक के कामकाज को विस्तार देने और ज्यादा-से-ज्यादा महिलाओं को इससे जोड़ने में लगी हैं।जिले में पास के गांव की एक और महिला बैंक सखी निरमा सोलंकी को भी सम्मानित किया जाएगा। निरमा ने बैंकों से महिलाओं को जोड़ने में अहम भूमिका निभाई है। वे बीए पास हैं। इलाके में इतनी पढ़ी-लिखी महिला नहीं है इसलिए निरमा को नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक ने इलाके के लिए अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया है। अब वे महिलाओं को कैश ट्रांजेक्शन करना सीखा रही हैं।

नई दिल्ली (12 अप्रैल):  वर्तमान में बीजेपी सांसद और भारत के पूर्व गृह सचिव आरके सिंह का मानना है भारत के पूर्व नौसेनिक अफसर कुलभूषण जाधव की हत्या की जा चुकी होगी। पाकिस्तान के सैनिक न्यायालय कुलभूषण जाधव अब फांसी की सज़ा देने का नाटक कर रही है।

उन्होंने कहा कि ‘पाकिस्तान ने यक़ीनन कुलभूषण का उत्पीड़न करने के बाद उनकी हत्या कर दी होगी और अब अपनी इसी शर्मनाक करतूत को छिपाने के लिए पाक न्यायिक प्रक्रिया की झूठी कहानी रच रहा है। अगर वाकई में ऐसा कुछ नहीं है तो पाकिस्तान को हमें राजनयिक आधार पर भूषण से मिलने देना चाहिए।

इससे पहले भारत की तरफ़ से 13 बार दी गई राजनयिक अर्ज़ियों को खारिज कर दिया गया’। इसके बावजूद उन्होंने भारत सरकार से दोबारा जल्द से जल्द राजनयिक ताक़त का इस्तेमाल करने की मांग रखी। इतना ही नहीं, आरके सिंह के मुताबिक पाक कल यह घोषणा भी कर सकता है कि उसने कुलभूषण को फांसी की सज़ा दे दी है।

नई दिल्ली॥ श्रीलंका के तेज गेंदबाज मलिंगा ने गुरुवार को बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में हैट्रिक ली। यह उनके टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर की पहली हैट्रिक है जबकि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में उनकी चौथी हैट्रिक रही।

 पहला टी20 अंतर्राष्ट्रीय हारने के बाद बांग्लादेश ने दूसरे मुकाबले में शानदार बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 9 विकेट खोकर 176 रन बनाए। इमरुल कायेस, सौम्य सरकार और शाकिब अल हसन ने क्रमशः 36, 34 और 38 रन की उपयोगी पारियां खेली।

 3 ओवर में 31 रन खर्च करने वाले मलिंगा ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन आखिरी के लिए बना रखा था। पारी के 19वें ओवर में श्रीलंकाई गेंदबाज ने पहली दो गेंदों पर तीन रन खर्च किये और फिर अगली तीन गेंदों पर अपनी टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर की पहली हैट्रिक पूरी करके बांग्लादेश को बैकफुट पर धकेल दिया।

मलिंगा ने 19 ओवर की तीसरी गेंद पर मुश्फिकुर रहीम को क्लीन बोल्ड कर दिया। अगली गेंद पर मलिंगा ने मशरफे मोर्तज़ा को क्लीन बोल्ड कर दिया। उल्लेखनीय है कि अपना आखिरी टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेल रहे मोर्तज़ा आखिरी मैच में बिना खाता खोले आउट हो गए। इसके बाद ओवर की पांचवीं गेंद पर मलिंगा ने मेहेदी हसन को धीमी गति की गेंद पर LBW आउट करके अपनी हैट्रिक पूरी की।

बुराड़ी विधानसभा॥ बिजली, पानी, सड़क, अस्पताल, स्कूल आदि हमारी जिन्दगी के बुनियादी हिस्से हैं। इनके बिना हम नहीं रह सकते, सरकार का काम है इन सुविधाओं को नागरिकों तक पहुंचाना। मगर इस क्षेत्र के निवासियों को एक-एक बुनियादी सुविधा के लिये संघर्ष करना पड़ता हैं।  यहां आप अपनी पसन्द का घर तो चुन सकते हैं उसे अपने मन के अनुसार बनवा भी सकते हैं लेकिन उसके आसपास की व्यवस्था को नहीं चुन सकते, जैसे उस जगह के गन्दे पानी की निकासी और साफ पानी के आने की व्यवस्था, कूड़ा फेंकने के लिये कूड़ेदान, पक्की सड़क आदि। ये व्यवस्था आपके हाथ में नहीं है। दुर्भाग्य की बात है कि हमारे शहर, मौहल्ले या कॉलोनी प्लानिंग करके नहीं बसाये जाते, हालांकि बुराड़ी के कुछ हिस्से तो कच्ची कॉलोनी में आते हैं, फिर भी बुनियादी नागरिक सुविधाओं पर सभी का समान हक होता है।। 

लीड इंडिया की टीम लगातार आपके क्षेत्र में रहेगी जो ये कवरेज करेगी कि कहां नाले गन्दगी से उफान मार रहे हैं, किस कॉलोनी की सड़क टूटी है या आज तक बनी ही नहीं। मतलब आपकी गली की नालियों से लेकर आपके पास से गुजरने वाले नाले तक, कूड़े दान होने ना होने तक, अन्धेरें में डूबे घर, मच्छरों से त्रस्त आबादी, घरों के पास बने शराब के ठेकों से बिगड़ती व्यवस्था, सब हमारी मुख्य खबरें होंगी।

लीड इंडिया एक हेल्पलाइन नम्बर जारी करेगा जिस पर इस क्षेत्र का कोई भी निवासी नागरिक सुविधाओं से जुड़ी समस्याओं को हम तक पहुंचा सकेगा जिसे हमारे रिपोटर्स द्वारा वेरिफिकेशन करने के बाद अखबार में छापा जाएगा और उस अखबार की कॉपी को संबंधित अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों तक पहुंचाया जाएगा। जब यह खबर अखबार के माध्यम से लोगो के बीच में आयेगी तो निश्चित रूप से सोये हुए अधिकारी और जनप्रतिनिधी जागेंगे और समस्या का समाधान होगा। यदि समाधान नहीं हुआ तो लीड इंडिया इसे लगातार अपने अखबार के “फिर से लिखेंगे” पेज पर उठाता रहेगा।

 

Page 9 of 17
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…