Super User

Super User

Email: This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

राजस्थान के कोटा एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के कृषि वैज्ञानिक 24 मई यानी कल देश ही नहीं पूरी दुनिया को एक बड़ी सौगात देने जा रहे हैं। यहां के कृषि वैज्ञानिकों ने पालक, गाजर और सेजना के ऐसे कैप्सूल तैयार किए हैं जो कब्ज, ब्लडप्रेशर, हृदय रोग और डायबिटीज के रोगियों के लिए फायदेमंद हैं। प्रोटीन, मिनरल, विटामिन, और अन्य आवश्यक पोषक तत्वों के मिश्रण वाले इन कैप्सूल में रोग प्रतिरोधक क्षमता भी है।

कल से कोटा में शुरू होने जा रहे 'राजस्थान ग्लोबल एग्रोटेक मीट' में इस लांच किया जाएगा। इसे कोटा कृषि विश्वविद्यालय की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ.ममता तिवाड़ी ने तैयार किया है। तिवाड़ी का कहना है कि महंगी और साइड इफेक्ट्स वाली दवाओं से लोगों को बचाने के लिए कोटा कृषि विवि में उन्होंने लैब, रिसर्च सेंटर के साथ पूरी फूड प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित की है। जिसमें ये कैप्सूल तैयार किए जा रहे हैं।

राजस्थान के कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने बताया कि 24 मई से शुरू हो रहे ग्राम में 10 देशों के कृषि विशेषज्ञ आमंत्रित किए गए हंै, जिनसे नई तकनीकी का आदान-प्रदान किया जाएगा। कृषि मंत्री ने बताया कि ग्राम के आयोजन से किसानों को नवीनतम तकनीकी की जानकारी के साथ ही लहसून, धनिया और स्थानीय उपज पर आधारित निवेश के लिए नए द्वार खुलेंगे।

नई दिल्ली (20 अगस्त): रिलायंस जियो ने 1500 रुपये में फीचर फोन देने का ऐलान किया है। हालांकि 3 साल के बाद उस राशि को रिफंड कर दिया जाएगा, लेकिन अब जिया को टक्कर देने के लिए एक नया फीचर फोन बाजार में आ गया है।

भारतीय कंपनी Detel ने इस फीचर फोन को लांच किया है। इस मॉडल का नाम है डी-1। कंपनी ने इस फीचर फोन की कीमत 299 रुपए रखी है, वो भी होम डिलीवरी के साथ। इस फोन को कंपनी की वेबसाइट http://detel-india.com पर बुक किया जा सकता है।

फोन के फीचर्स...

- यह सिंगल सिम फोन है।

- इसमें 1.44 इंच का ब्लैक एंड व्हाइट डिस्प्ले दिया गया है।

- इसमें 650mAh की बैटरी दी गयी है।

- एक बार फुल चार्ज होने के बाद यह 15 दिन तक स्टैंडबाय सपोर्ट देगी।

- इसमें एक टॉर्च और एफएम भी दिया गया है।

- फोन में वाइब्रेशन मोड और लाउड स्पीकर की भी सुविधा है।

- इस फोन में 4जी सपोर्ट नहीं दिया गया है।

 

नई दिल्ली (21 अगस्त): भारत-श्रीलंका के बीच 5 वनडे मैचों की सीरीज के पहले मैच में भारत ने श्रीलंका को 9 विकेट से हराकर सीरीज में बनाई 1-0 की बढ़त बना ली। श्रीलंका की ओर से दिए गए 217 रनों के लक्ष्य को भारत ने 28.5 ओवर में एक विकेट खोकर हासिल कर लिया। भारत की ओर से शिखर धवन ने 132 जबकि विराट ने 82 रनों की पारी खेली। भारत और श्रीलंक के बीच खेले गए पहले वनडे मैच में शिखर धवन की शानदार फॉर्म जारी रही। धवन ने टेस्ट सीरीज के अपने बेहतरीन प्रदर्शन को जारी रखते हुए पहले वनडे में शानदार शतक ठोका। धवन सिर्फ 71 गेंदों में शतक लगाकर श्रीलंका में सबसे तेज शतक लगाने वाले भारतीय खिलाड़ी बन गए।

धवन ने शानदार खेल दिखाते हुए बेहतरीन बल्लेबाजी की और अपने वनडे करियर का 11वां शतक ठोका। धवन ने 71 गेंदों में 140 के स्ट्राइक रेट के साथ बल्लेबाजी करते हुए शतक लगाया। धवन ने शतक लगाने के दौरान 16 चौके और 2 छक्के ठोके। रोहित के साथ पारी का आगाज करने उतरे शिखर ने आते ही तेजी से रन बनाए और आक्रामक बल्लेबाजी की।

श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 2 और अब दांबुला में खेले गए पहले वनडे में शतक लगाकर शिखर धवन ने इस श्रीलंकाई दौरे पर 25 दिनों में तीसरा शतक जड़ने का कारनामा किया है। श्रीलंका में सबसे तेज सेन्चुरी लगाने वाले इंडियन भी बन गए। साथ ही धवन श्रीलंका की धरती पर वनडे में सबसे तेज शतक लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज बने हैं।

नई दिल्ली (21 अगस्त): आज सूर्यग्रहण लगने जा रहा है। भारतीय समय के मुताबिक यह ग्रहण रात में 9.15 मिनट से शुरु होगा और रात में 2.34 मिनट पर खत्म होगा। भारत में इस दौरान रात रहेगी तो यहां पर कहीं भी सूर्य ग्रहण दिखाई नहीं देगा। यह ग्रहण यूरोप, उत्तर/पूर्व एशिया, उत्तर/पश्चिम अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका में पश्चिम, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत, अटलांटिक, आर्कटिक की ज्यादातर हिस्सों में दिखेगा। 99 सालों बाद अमेरिकी महाद्वीप में पूर्ण सूर्यग्रहण होगा। अमेरिका में सुबह 10.15 मिनट से सूर्यग्रहण ऑरेगन के तट से दिखने लगेगा और दक्षिण कैरोलीना के तट पर दोपहर 2.50 बजे खत्म होगा। उत्तरी अमेरिका के सभी हिस्से में आंशिक सूर्यग्रहण देखा जा सकेगा।

सूर्यग्रहण पर क्या करें और क्या नहीं...

- पौराणिक मान्यताओं के अनुसार सूर्यग्रहण के बाद पवित्र नदियों और सरोवरों में स्नान कर देवता की आराधना करनी चाहिए

- स्नान के बाद गरीबों और ब्राह्मणों को दान देने की परंपरा है। मान्यता है कि इससे ग्रहण के प्रभाव में कमी आती है

- सूर्यग्रहण के बाद लोग गंगा, यमुना, गोदावरी आदि नदियों में स्नान के लिए जाते हैं और दान देते हैं

- मान्यता के मुताबिक सूर्यग्रहण में ग्रहण शुरु होने से चार प्रहर पूर्व भोजन नहीं करना चाहिये।

- ग्रहण के दिन पत्ते, तिनके, लकड़ी, फूल आदि नहीं तोड़ना चाहिए

- मिथक है कि गर्भवती स्त्री को सूर्यग्रहण या चंद्रग्रहण नहीं देखना चाहिए। क्योंकि माना जाता है कि उसके दुष्प्रभाव से शिशु को प्रभावित कर सकता है।

- मान्यता  के मुताबिक सूर्यग्रहण के समय बाल और वस्त्र नहीं निचोड़ने चाहिए और दांत भी नहीं साफ करने चाहिए। ग्रहण के समय ताला खोलना, सोना, मल-मूत्र का त्याग करना और भोजन करना - ये सब कार्य वर्जित हैं

- सूर्यग्रहण या चंद्रग्रहण के दौरान किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत को बिल्कुल मना किया जाता है. मान्यता है कि इस दौरान शुरु किया गया काम अच्छा परिणाम नहीं देता है।

Page 10 of 46
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…