×

Warning

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 558

देश

नई दिल्ली (18 मार्च): त्रिवेंद्र सिंह रावत उत्तराखंड के अगले मुख्यमंत्री होगें। उत्तराखंड में आज से त्रिवेंद्र सिंह रावत की सरकार होगी।

त्रिवेंद्र सिंह आज मुख्यमंत्री के पद की शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित भाई शाह समेत पार्टी के कई नेता शामिल रहेंगे।

देहरादून में शुक्रवार को हुई बैठक में विधायक दल का नेता चुना गया। उत्तराखंड चुनाव में 70 सदस्यों वाली विधानसभा में कांग्रेस को सिर्फ 11 सीटें मिली थीं। बीजेपी ने 57 सीटों पर जीत का परचम लहराया है।

तमिलनाडु के नए सीएम के रूप में शपथ लेने के लिए पलानीस्वामी घर से राजभवन के लिए निकल चुके हैं. पलानीस्वामी 31 मंत्रियों के साथ शपथ लेंगे.

इससे पहले गुरुवार को पलानीस्वामी का सीएम पद के लिए नाम तय होने पर उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की. उन्होंने 120 विधायकों के समर्थन की बात राज्यपाल को बताई. बता दें कि AIADMK की महासचिव शशिकला के जेल जाने और पनीरसेल्वम के इस्तीफे के बाद तमिलनाडु में सियासी संकट चल रहा था.

क्यों सीएम बनेंगे पलानीस्वामी ?

आय से अधिक संपत्ति के मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा शशिकला को सजा सुनाए जाने के बाद उनके खेमे ने पलानीस्वामी  को विधायक दल का नेता चुना था.

इसरो ने बुधवार को 104 सैटेलाइट लॉन्च कर इतिहास रच दिया. इसरो ने पहली बार किसी लॉन्च किए गए रॉकेट से सेल्फी ली है. इस दौरान इसरो के ऑन बोर्ड कैमरों ने कई सेल्फियां ली. वहीं उन्होंने रॉकेट के ऊपर जाते वक्त का पूरा वीडियो डाला है, जिसमें सभी 104 सैटेलाइट का निकलते हुए दिख रहे हैं.

 

यह कैमरा रोजाना पृथ्वी की सतह के स्नैपशॉट भेजता रहेगा.

यह रॉकेट से श्रीहरिकोटा से छोड़ा गया.

पीएसएलवी ने 10 हजार किलोमीटर की रेंज को पार किया

श्रीहरिकोटा के सतीश धवन लॉन्चिंग सेंटर से पीएसएलवी-सी37 लॉन्च किया गया.

9 बजकर 28 मिनट पर 104 सैटेलाइट्स का प्रक्षेपण हुआ.

10: 02 मिनट पर इसरो की ओर से इस मिशन के कामयाब होने का ऐलान किया गया.

शादी में फिजूलखर्ची पर जल्द ही कानूनी डंडा चल सकता है. कांग्रेस सांसद रंजीत रंजन ने इस सिलसिले में प्राइवेट मेंबर बिल पेश किया है. आपको बता दें रंजीत रंजन बिहार के बाहुबली नेता पप्पू यादव की पत्नी हैं.

आजतक के साथ खास बातचीत में रंजन ने उम्मीद जताई कि उनके विधेयक पर सियासत नहीं होगी और सभी पार्टियां इसका समर्थन करेंगी. उनके मुताबिक कई सांसद खुद भी महंगी शादियों पर लगाम चाहते हैं. उनकी मानें कि विधेयक के जरिये शादी को शानो-शौकत के दिखावे का जरिया मानने वाले लोगों में डर पैदा होगा. रंजन ने उम्मीद जताई कि युवा बिल का समर्थन करेंगे. उन्होंने ऐलान किया कि अगर सरकार इस बिल को पास करवाती है तो वो संसद में खड़े होकर सरकार को सलाम करेंगी. रंजन का कहना था कि ये बिल राजनीति से परे आम आदमी के सरोकारों से जुड़ा है.

बिल में क्या है?

इस मैरिज (कंम्पल्सरी रजिस्ट्रेशन एंड प्रिवेंशन ऑफ वेस्टफुल एक्सपेंडीचर) बिल जुलाई 2016 में पेश किया गया था. विधेयक के मसौदे के मुताबिक अगर कोई शख्स शादी में 5 लाख रुपये से ज्यादा खर्च करता है तो उससे 10 फीसदी जुर्माना वसूला जाएगा. जुर्माने की रकम एक ऐसे कोष में जाएगी जिससे गरीब लड़कियों की शादी में आर्थिक मदद पहुंचाई जाएगी. साथ ही देश में होने वाली हर शादी को 60 दिनों के भीतर रजिस्टर कराना भी जरुरी होगा.

 

Page 10 of 11
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…