देश

नई दिल्ली॥ चीन की मोबाइल निर्माता कंपनी ओप्पो के नोएडा स्थित दफ्तर के स्टाफ ने देश के राष्ट्रीय ध्वज के अपमान से नाराज होकर जोरदार विरोध दर्ज किया।

कंपनी के वरिष्ठ चीनी मूल के अधिकारी पर आरोप है कि उसने कंपनी की दीवार पर लगे राष्ट्रीय धव्ज के पोस्टर को फाड़कर कूड़ेदान में फेंक दिया था।- इसके विरोध में स्टाफ ने आठ घंटे से अधिक पुरजोर विरोध दर्ज करा अपनी नाराजगी जाहिर की।

स्टाफ के सदस्यों का विरोध आरोपी अधिकारी सुहाउ के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद ही ठंडा पड़ा।

'भारत माता की जय' के नारे लगा रहे कर्मचारियों ने पहले कंपनी की मेन बिल्डिंग की दीवार पर एक पोस्टर लगाया। इसके वाद विरोध के तौर पर सोमवार की देर रात तक वहां नारे लगाते हुए डटे रहे।

सेक्टर 63 में ओप्पो ऑफिस के बाहर प्रदर्शनकारियों ने सड़क बंद कर दिया। इसके साथ ही प्रदर्शनकारी कर्मचारियों ने विरोध के तौर पर कंपनी बिल्डिंग की दीवारों पर ऐसे कई सारे और पोस्टर लगाए।

 

नई दिल्ली॥ एक बार फिर रेलवे में दिए जाने वाले खाने पर सवाल खड़े हो गए हैं। इस बार नई दिल्ली-सियालदह राजधानी एक्सप्रेस में परोसा गया खाना खाकर छह पैसेंजर बीमार हो गए, जिसके बाद लोगों ने दो स्टेशनों पर हंगामा किया।

इस घटना के बाद केंद्रीय मंत्री और आसनसोल से सांसद बाबुल सुप्रियो ने कहा कि उन्हें भी कई बार राजधानी एक्सप्रेस में खराब क्वॉलिटी का खाना मिला है। सुप्रियो ने भरोसा दिलाया कि वह इस मुद्दे को रेल मंत्री सुरेश प्रभु के समक्ष उठाएंगे और अगर जरूरत पड़ी तो खुद ट्रेन में खाने की क्वॉलिटी की जांच करेंगे।

एक महिला यात्री ने कहा, ‘ट्रेन में खाने की क्वॉलिटी बेहद घटिया है और यह समय पर परोसा भी नहीं जाता। जब लोग ऐसी ट्रेनों से यात्रा के लिए मोटी रकम चुकाते हैं, तो वे खाने की बेहतर क्वॉलिटी और सेवाओं की उम्मीद करते हैं, लेकिन ऐसा अकसर नहीं होता। इस ट्रेन के कम से कम छह पैसेंजर सोमवार रात का खाना खाकर बीमार पड़ गए।’

ईस्ट रेलवे के अधिकारियों ने माना कि उन्हें शिकायत मिली है। उन्होंने कहा कि जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। ईस्ट रेलवे के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘ऐसा हमेशा नहीं होता है। ट्रेन में लगभग 1,200 यात्री सवार थे, जिनमें से 5-6 यात्रियों ने खाने की क्वॉलिटी को लेकर शिकायत की। हम मामले की जांच कर रहे हैं। उचित कार्रवाई की जाएगी।

लखनऊ(25 मार्च): योगी आदित्यनाथ यूपी का सीएम बनने के बाद पहली बार गोरखपुर पहुंच रहे हैं। सीएम योगी दो दिन गोरखपुर में रहेंगे। योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से पांच बार के सांसद हैं। योगी आदित्यनाथ के  आगमन को लेकर गोरखपुर सज चुका है। जगह-जगह उनके स्वागत के लिए तस्वीरें लगाई गई हैं।

 

क्या क्या होगा गोरखपुर में ख़ास

  1. योगी आदित्यनाथ एयरपोर्ट से काली मंदिर तक रोड शो करने वाले हैं।
  1. जीडीए ऑडिटोरियम में गोरखपुर डिवीजन के आला अफसरों के साथ मीटिंग करने वाले हैं।
  1. गोरक्षपीठ के जरूरी कामकाज भी देखेंगे, योगी वहां के महंत हैं।
  1. शनिवार शाम शहर के एमपी इंटर कॉलेज में एक वेलकम सेरेमनी में भी शिरकत करेंगे।
  1. सीएम योगी के गोरखपुर पहुंचने पर राज्य में बीजेपी के कई बड़े नेता भी उनसे मुलाकात करेंगे।
  1. बीजेपी दफ्तर में वे गोरखपुर डिवीजन के सभी सांसद, एमएलए, एमएलसी, जिला पंचायत मेंबर्स, डिस्ट्रिक्ट इंचार्ज से भी मिलेंगे। सीएम से मिलने के लिए लोगों को सुरक्षा के 5 बैरियर्स से गुजरना होगा।
  1. सीएम के वेलकम के लिए पूरा शहर भगवा रंग में रंग गया है। योगी जिस रूट से गुजरेंगे, वहां होर्डिंग, बैनर और भगवा झंडे लगाए गए हैं। जगह-जगह तोरणद्वार बनाए गए हैं।
  1. मंदिर कैम्पस के दुकानदारों ने पूरे मंदिर को गुब्बारों और फूल से सजाया है। मंदिर के मेन गेट को गेंदा फूल की 800 लड़ियों से सजाया गया है।
  1. सीएम बनने के बाद पहली बार योगी अयोध्या भी जाएंगे। सोमवार को अयोध्या जाएंगे।

 

नई दिल्ली(23 मार्च): सीएम योगी आदित्यनाथ राज्य में महिला-सुरक्षा के मामले में कोई कोताही नहीं बरतते दिखाई दे रहे। दबंगों से छेड़खानी की शिकार महिलाओं के परिजनों ने उन्हें ट्वीट किया तो उन्होंने तुरंत कार्रवाई के आदेश देते देर नहीं लगाई।

 पुलिस ने बताया कि घटना होली के दिन की है, जब कुछ स्थानीय युवक नशे में धुत होकर कल्याणपुर इलाके के एक घर में घुसे और एक महिला और उसकी बेटियों के साथ छेड़छाड़ करने लगे। महिला के पति ने विरोध किया तो उसके साथ मारपीट करने लगे।

महिला का पति कल्याणपुर थाने पहुंचा, पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली। हालांकि शिकायतकर्ता का कहना है कि मामले की जांच को लेकर पुलिस का रवैया ढीला रहा। पुलिस की ढिलाई को देखते हुए उन्होंने डीजीपी और सीएम कार्यालय को ट्वीट कर मदद की गुहार लगाई।

इसके बाद पुलिस हरकत में आई। एसपी सचिंद्र पटेल ने बताया कि लखनऊ से डीजीपी ने कॉल कर मामले में तुरंत रिपोर्ट सौंपने को कहा। उन्होंने बताया कि वह खुद परिवार से मिले और मेडिकल जांच की व्यवस्था करवाई गई। उन्होंने यह भी बताया कि पहले तो आरोपियों के खिलाफ मारपीट और गालीगलौज का मामला दर्ज किया गया था, अब कुछ अन्य धाराओं में भी केस दर्ज हुए हैं।

आरोपियों की धर-पकड़ के लिए तीन पुलिस टीमें बनाई गई हैं और पीड़ित परिवार को सुरक्षा प्रदान की गई है।

Page 9 of 11
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…