देश

नई दिल्ली (2 अगस्त): कर्नाटक के उर्जा मंत्री डीके शिवकुमार पर इनकम टैक्स की रेड को लेकर संसद में हंगामा मचा हुआ है। इस बारे में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सफाई देते हुए कहा कि रिजॉर्ट पर कोई छापा नहीं पड़ा बल्कि मंत्री से पूछताछ के लिए इनकम टैक्स विभाग की टीम वहां पर गई।

वित्त मंत्री जेटली ने लोकसभा और राज्यसभा दोनों ही जगह सरकार का बचाव किया। लोकसभा में उन्होंने कहा कि छापे शुरू होने के बाद आरोपी मंत्री रिजॉर्ट में जाकर 'छिप' गए थे। अधिकारी उनके बयान लेने के लिए रिजॉर्ट गए थे। रिजॉर्ट पर न ही कोई छापा पड़ा और न ही किसी कांग्रेसी विधायक की वहां तलाशी ली गई।

जेटली के मुताबिक, जब अधिकारी रिजॉर्ट पहुंचे तो कई दस्तावेज फाड़े जा रहे थे। इन्हें अफसरों ने कब्जे में ले लिया है। वित्त मंत्री ने आखिर में कहा कि इस कार्रवाई को गुजरात के किसी चुनाव या राजनीति से जोड़कर नहीं बल्कि आर्थिक अपराध के खिलाफ हुई कार्रवाई के तौर पर देखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कुल 39 जगहों पर छापे मारे गए हैं। इसके अलावा, अगर कोई शख्स कांग्रेसी विधायकों की मेजबानी में लगा है तो उसे अपने घर में अवैध पैसे रखने का लाइसेंस नहीं मिल जाता।

 

 

नई दिल्ली(1 अगस्त): लश्कर कमांडर अबु दुजाना पुलवामा में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया है। पता चला है कि अबु दुजाना को जिस घर में घेरा गया है वो उसकी पत्नी का था। 

-अबु दुजाना ने कुछ दिन पहले लोकल कश्मीरी लड़की से शादी की थी। वो लश्कर से सात लाख रुपए मांग रहा था जिससे वो अपनी पत्नी को भारत के बाहर शिफ्ट करना चाहता था।

- बता दें जम्मू-कश्मीर के पुलवामा के काकापोरा में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के साथ मुठभेड़ में आतंकी संगठन के कश्मीर कमांडर अबु दुजाना को मार गिराया है। 

- जानकारी के मुताबिक सुरक्षाबलों को इस इलाके में लश्कर के कमांडर अबु दुजाना सहित 3 आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। 

- बता दें कि अबु दुजाना के सिर पर लाखों रुपये का इनाम था।

-मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुरक्षाबलों ने उस घर को विस्फोटक से उड़ा दिया जिसमें आतंकियों के छिपे होने की आशंका थी। खबरों के मुताबिक सुरक्षाबलों ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए 2 आतंकियों को मार गिराया है और अभी भी तीसरे आतंकी की तलाश जारी है। 

नई दिल्ली(15 जुलाई): विश्व हिंदू परिषद ने अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा कि घटना से पता चलता है कि सरकार कश्मीर मुद्दे से सख्ती से नहीं निपट रही है। वीएचपी ने साथ ही कहा कि सेना का मनोबल बढ़ाने के लिए जल्द ही वह एवं बजरंग दल के 10,000 से अधिक कार्यकर्ता कश्मीर के आतंकवाद प्रभावित क्षेत्रों में जमा होंगे।

- वीएचपी की कोंकण क्षेत्र इकाई के प्रमुख शंकरराव गैकर ने कहा कि चरमपंथियों एवं जेहादियों ने हमारे देश को एक युद्धक्षेत्र बना दिया है और रोजाना हमले कर रहे हैं। समय आ गया है कि देश कश्मीर में पूर्ण रूप से एक आतंकरोधी अभियान शुरू करे और कायराना हमलों में निर्दोष लोगों की जान लेने वाले जेहादियों का सफाया करे।

- उन्होंने कहा कि यह बिल्कुल साफ है कि सरकार कश्मीर मुद्दे से सख्ती से नहीं निपट रही। हमारा कोई पूर्णकालिक रक्षा मंत्री नहीं है। गृह मंत्री (राजनाथ सिंह) ने हाल में कहा कि सेना को आतंकियों के सफाये के लिए खुली छूट दी गयी है। लेकिन मैं पूछता हूं कि अब तक सेना के हाथ बंधे क्यों थे?

-उन्होंने कहा कि सरकार को जम्मू-कश्मीर के पुलिस विभाग एवं भारत के सशस्त्र बलों में कश्मीरी मुसलमालों की भर्ती तत्काल रोक देनी चाहिए। अगर ऐसा नहीं किया गया तो वहां हमारे जवानों का अपमान कर रहे पथराव करने वाले लोग आने वाले सालों में सशस्त्र बलों में शामिल होकर हमारे ही देश के खिलाफ काम कर सकते हैं।

- गैकर ने कहा कि भाजपा सरकार को हिंदुत्व की ‘मूल नीति’ का पालन करना चाहिए और देश की ‘बेहतरी’ के लिए संविधान से अनुच्छेद 370 हटा देना चाहिए।

- उन्होंने कहा कि सेना के जवानों का मनोबल बढ़ाने के लिए जल्द ही वीएचपी और बजरंग दल के 10,000 से अधिक कार्यकर्ता कश्मीर घाटी के आतंकवाद प्रभावित क्षेत्रों में जमा होंगे।

 

 

 

नई दिल्ली(14 जुलाई): अमेरिका के दो  विशेषज्ञों हैंस एम. क्रिस्टेंसन और रॉबर्ट एस. नॉरिस ने 'इंडियन न्यूक्लियर फोर्सेज़-2017' शीर्षक से प्रकाशित अपने लेख में लिखा है कि भारत अब एक ऐसी मिसाइल विकसित कर रहा है, जिससे दक्षिण भारतीय बेस से भी पूरे चीन पर निशाना मार सकेगा। इन दोनों विशेषज्ञों के मुताबिक भारत की परमाणु नीति में अब पाकिस्तान की बजाय चीन पर ज़्यादा ध्यान दिया जा रहा है।

Page 5 of 11
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…