देश

नई दिल्ली(23 अगस्त): यूपी में ये एक हफ्ते में दूसरा बड़ा ट्रेन हादसा है। औरैया के पास कैफियत एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतर गए हैं।

- बताया जा रहा है कि इंजन समेत 10 डिब्बे पटरी से उतरे हैं।

- हादसा ट्रेन के एक डंपर से टकराने की वजह से हुआ।

- हादसे में करीब 74 मुसाफिर घायल हो गए हैं। राहत और बचाव का काम जारी है। रेलवे के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।- हादसा रात को करीब 2 बजकर 50 मिनट पर हुआ।

प्रश्न: राजनितिक परिदृश्य से क्या संभावित है 2019 में।

उत्तर: 2019 राजनीतिक रूप से बहुत उथल पुथल वाला वर्ष रहेगा।

प्रश्न: इस वर्ष लोक सभा चुनाव भी हैं। अपने आपको सुदृड़ करती कांग्रेस क्या लौटेगी सत्ता में।
उत्तर: कांग्रेस अपने संघठन को अवश्य मजबूत करेगी।
जैसा मैंने पहले भी कहा है कि नं 47 गांधी परिवार के साथ जुड़ा रहा है।
प्रियंका गांधी 12 जनवरी 2019 को 47 वर्ष की होंगी और उनका होगा राजनीती में प्रवेश।

प्रश्न:तो क्या कांग्रेस फिर से सत्तारूढ़ होगी या कोई गठबंधन सरकार सत्ता हासिल करेगी।
उत्तर: जैसा मैंने पहले भी कहा है कि ये वर्ष राजनितिक उथल पुथल का वर्ष है। राजनितिक समीकरण अवश्य बदलेंगे और बदलेंगी परिस्तिथियाँ।

प्रश्न: मतलब
उत्तर: घटनाचक्र तेजी से बदलेगा। कुछ लोगों के राजनितिक जीवन ही नहीं अपितु जीवन पर भी कष्ट की संभावना है।

प्रश्न:आपका कहना है बदलाव आने वाला है और लोक सभा चुनाव के नतीजे के बारे में क्या कहना है आपका।
उत्तर: 9 फरवरी के बाद परिवर्तन के संकेत हैं। कुछ ऐसे हालात बनेंगे जिसका दूरगामी परिणाम होगा।
कुछ अप्रिय घटनाएं गृह युद्ध या युद्ध की तरफ भी देश को धकेल सकती हैं।

प्रश्न:क्या आपका इशारा पाकिस्तान से युद्ध होने की सम्भावना का है।
उत्तर: सम्भावना से इंकार नहीं किया जा सकता।

प्रश्न: एक आखिरी प्रश्न किसके पक्ष में आएंगे चुनाव के नतीजे।
उत्तर: इकतरफा होंगे चुनाव के परिणाम।
रिपोर्टर : स्ब कुछ भविष्य के गर्भ में है।
देखते हैं क्या होगा भविष्य में और कितनी सटीक होती है डॉ सुनील मग्गो की ये भविष्यवाणी।
डॉ साहब आपका धन्यवाद और आपसे फिर मिलेंगे एक और भविष्यवाणी को लेकर।
डॉ सुनील मग्गो: धन्यवाद्

नई दिल्ली (21 अगस्त): डोकलाम विवाद को लेकर चीन अब ज्यादा आक्रामक होता दिख रहा है। 15 अगस्त को उसकी सेना ने लद्दाख में घुसपैठ की थी, जिनको भारतीय सैनिकों ने वापस खदेड़ा था। ऐसे में अब खबर आ रही है कि चीनी सेना की सबसे बड़ी कमांड वेस्टर्न थिएडर ने युद्ध का अभ्यास किया है।

चीनी सेना के वेस्टर्न थिएटर कमांड को ही भारतीय सीमा से सटे इलाकों में सुरक्षा की जिम्मेदारी मिली हुई है। जो वीडियो सामने आया है उसमें युद्ध अभ्यास में टैंक और मिसाइल का इस्तेमाल होता दिख रहा है। हालांकि अभी ये साफ नहीं हो पाया है कि चीन की सेना ने ये युद्ध अभ्यास चीन के किस इलाके में किया है।

बता दें कि डोकलाम विवाद पर चीन बार-बार भारत को युद्ध की धमकी दे रहा है। हाल ही में चीन ने कहा था कि अगर भारत ने डोकलाम से अपनी सेना नहीं हटाई तो वह गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे। हमारे हथियार और सेना भारत के मुकाबले काफी बेहतर है। भले ही भारत ने पिछले दिनों यूएस और रूस से कई तरह के हथियार खरीदे हों, लेकिन चीन के हथियारों के तुलना में वे काफी हल्के हैं।

 

क्या है पूरा विवाद?

दरअसल डोकलाम जिसे भूटान में डोलम कहते हैं। करीब 300 वर्ग किलोमीटर का ये इलाका चीन की चुंबी वैली से सटा हुआ है और सिक्किम के नाथुला दर्रे के करीब है। इसलिए इस इलाके को ट्राई जंक्शन के नाम भी जाना जाता है। ये डैगर यानी एक खंजर की तरह का भौगोलिक इलाका है, जो भारत के चिकन नेक यानी सिलिगुड़ी कॉरिडोर की तरफ जाता है। चीन की चुंबी वैली का यहां आखिरी शहर है याटूंग। चीन इसी याटूंग शहर से लेकर विवादित डोलम इलाके तक सड़क बनाना चाहता है।

इसी सड़क का पहले भूटान ने विरोध जताया और फिर भारतीय सेना ने। भारतीय सैनिकों की इस इलाके में मौजूदगी से चीन हड़बड़ा गया है। चीन को ये बर्दाश्त नहीं हो रहा कि जब विवाद चीन और भूटान के बीच है तो उसमें भारत सीधे तौर से दखलअंदाजी क्यों कर रहा है। 16 जून से भारत और चीन की सेना के बीच गतिरोध जारी है।

नई दिल्ली(8 अगस्त): गुजरात में मंगलवार को राज्यसभा की तीन खाली सीटों के लिए चुनाव होंगे। बीजेपी की तरफ से अमित शाह, स्मृति ईरानी और बलवंत सिंह राजपूत मैदान में हैं। सोनिया गांधी के पॉलिटिकल एडवाइजर अहमद पटेल की राह मुश्किल नजर आ रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए बलवंत राजपूत को बीजेपी ने अपना कैंडिडेट बनाया है।

- कांग्रेस को क्रॉस वोटिंग का डर सता रहा है। 6 विधायकों के कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद पार्टी ने अपने 44 विधायकों को बेंगलुरु भेज दिया था, वे सभी सोमवार को लौट आए। उन्हें आणंद में एक रिजॉर्ट में ठहराया गया। इस बीच पटेल ने कहा मुझे जीत का भरोसा है।

- राज्यसभा की तीन सीटों के लिए सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक वोटिंग होगी। इलेक्शन कमीशन के नोटिफिकेशन के मुताबिक इस बार राज्यसभा इलेक्शन में बैलेट पेपर में NOTA ऑप्शन का इस्तेमाल होगा। कांग्रेस इसे हटवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी, लेकिन कोर्ट ने नोटिफिकेशन पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था।

- कांग्रेस से 6 विधायकों के इस्तीफे के बाद पार्टी के पास अब 57 की जगह 51 विधायक बचे हैं। फूट के बाद पार्टी को अपने 44 विधायकों को बेंगलुरु शिफ्ट करना पड़ा था। 7 विधायक गुजरात में ही रहे, लेकिन वे सामने नहीं आए।

Page 4 of 11
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…