देश

नई दिल्ली॥ महाराष्ट्र में जन्मी राष्ट्रीय समाज पक्ष पार्टी ने अपने राष्ट्रव्यापी विस्तार के चरण में दिल्ली में दस्तक देते हुए अपना 15वा स्थापना दिवस मनाया।

पार्टी का अधिवेशन दिल्ली के कॉंस्टीट्यूशन क्लब में मनाया गया जिसमें मुख्य अतिथि केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री, भारत सरकार नितिन गडकरी थे और इस बैठक की अध्यक्षता महाराष्ट्र की महिला एवं बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे ने की। श्री नितिन गडकरी ने राष्ट्रीय समाज पक्ष (आरएसपी) को बधाई देते हुए कहा कि वो आरएसपी के उस मिशन की सराहना करते हैं जिसमें इसके संस्थापक श्री महादेव जानकर जी ने जाति पाति से ऊपर उठ कर  एक राष्ट्र का सपना देखा है। इस अवसर पर उन्होंने महादेव जानकर जी के साथ अपने संस्मरणो को भी सुनाया।

इसके अलावा अन्य अतिथिगण में गिरीराज सिंह, सूक्ष्म,लघु, मध्यम उद्योग राज्य मंत्री, रामदास अठावले, केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता, राज्य मंत्री, हंसराज अहीर, केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री, सुभाष भाम्बरे, केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री, श्रीमति अनुप्रिया पटेल, केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण राज्य मंत्री, स्वामी प्रसाद मौर्य, श्रम सेवा योजन एवं समंवयक केबिनेट मंत्री, उत्तर प्रदेश सरकार, डॉ प्रीतम मुंडे, संसद सदस्य, डॉ विकास महात्मे, संसद सदस्य उपस्थित थे। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फणनवीस अपरिहार्य कारणो से उपस्थित नहीं हो सके।

राष्ट्रीय समाज पक्ष के संस्थापक व कैबिनेट मंत्री महादेव जानकर ने अधिवेशन में कहा कि महाराष्ट्र से निकल कर अब आरएसपी देश भर में काम करने के लिये तैयार है। वर्तमान में महादेव जानकर महाराष्ट्र सरकार में पशुपालन, डेयरी विकास और मत्स्य विकास मंत्री हैं। उन्होंने कहा कि आरएसपी अभी कुछ राज्यों में काम कर रही है लेकिन मैं जब तक चैन से नहीं बैठने वाला जब तक संसद में हमारा प्रतिनिधित्व ना हो जाए।

उन्होंने कहा कि आरएसपी महाराष्ट्र में अभी एनडीए की एलाएंस है लेकिन 2019 के आम चुनाव में उनका लक्ष्य देश के हर राज्य से अपने उम्मीदवार खड़ा करने का है। इसके लिये पहले दिल्ली में अपनी जगह बनाना जरूरी है। हमने दिल्ली में पार्टी को खड़ा करने के लिये प्रदेश अध्यक्ष की कमान श्री सुभाष सिंह को सौंपी है जो एक जाने माने पत्रकार हैं।

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष का कार्यभार मिलने पर जब श्री सुभाष सिंह से पूछा गया कि पार्टी को आगे बढ़ाने का उनका क्या लक्ष्य है तो उन्होने कहा कि सबसे पहले उनका काम दिल्ली में प्रदेश कमिटी बनाना होगा। कमिटी बन जाने के बाद वो पार्टी के एक राष्ट्र के सपने को साकार करने के लिये जानकर जी द्वारा दिखाई गाइड लाइन का पालन करेंगे। अधिवेशन में आरएसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अक्कीसागर ने सुभाष सिंह को नियुक्ति पत्र सौंपा।

महिला एवं बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे ने समापन भाषण में कहा कि भाजपा अगर मेरी माँ है तो राष्ट्रीय समाज पक्ष पार्टी मेरी मौसी की तरह है, और कहते है कि माँ से ज्यादा प्यार मौसी से किया जाता है। इसी तरह मेरा प्यार मौसी से अधिक ही है। उन्होंने कहा कि पार्टी के संस्थापक और मेरे भाई महादेव जानकर जी के त्याग की बात करूं तो उन्होंने एक राष्ट्र के सपने के लिये राष्ट्रीय समाज पक्ष की स्थापना की और 27 सालों से अपने घर तक नहीं गये। ऐसा त्याग और ऐसी भावना राजनीति में अब कम देखने को मिल रही है। कॉंस्टीट्यूशन क्लब के पास ही मावलंकर हॉल में चल रहे नेशनल कॉंग्रेस के वार्षिक अधिवेशन पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा कि बगल वाले हॉल में ही देख लीजिये जहाँ एक और पार्टी का अधिवेशन चल रहा है, उन्हे देख कर ही आपको दोनो पार्टियो के जमीनी स्तर का फर्क समझ आ जाएगा। मेरी कामना है कि राष्टीय समाज पक्ष देश में जल्द ही अपना वर्चस्व बनाए।

पार्टी के वार्षिक अधिवेशन में उत्तर प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, हरियाणा, तमिलनाडु से 10 हजार से अधिक कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। इसमें बडी संख्या में उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के किसान भी शामिल थे।

प्रश्न: 26 दिसम्बर 2018 को आपसे हुए साक्षात्कार में क्या संभावित है 2019 में.. आपने जो कहा वो बिलकुल सही निकला।
-प्रियंका गांधी का राजनीती में प्रवेश
-कुछ अप्रिय घटनाएं जैसे पुलवामा जिसमे भारतीय जवान शहीद हुए।
आपने कहा था कि इकतरफा होंगे लोक सभा के चुनाव।
क्या कहना है आपका अब इस बारे में

उत्तर: मैं फिर से आपको बता दूँ कि अभी भी इकतरफा होंगे चुनाव के परिणाम।

प्रश्न:तो क्या कांग्रेस फिर से सत्तारूढ़ होगी या कोई गठबंधन सरकार सत्ता हासिल करेगी

उत्तर: राजनितिक समीकरण अवश्य बदलेंगे पर सरकार भाजापा के नेतृत्व में ही बनेगी।

 

प्रश्न: कितनी सीटें आ सकती है भाजपा के खाते में

उत्तर: अंको का बहुत महत्त्व होता है। परिणाम 23.5 2019 को घोषित होंगे।
अतः पहले दो अंक यानि 23 और मोदी जी का अंक 8 मिलकर 238 सीटें तो सुनिश्चित है।
ये आँकड़ा सहयोगी दलों के साथ मिलकर 300 के आसपास जा सकता है।
एक और तथ्य 23 को गुरुवार है और अमित शाह के जन्म का दिन भी गुरुवार है।
23.5.2019 का योग 4 बनता है और 4 नंबर ही अमित शाह का है जिनकी पूरे चुनाव में महत्त्व पूर्ण भूमिका रहेगी।

प्रश्न: कब बनेगी सरकार।

उत्तर: मेरे अनुसार मोदी जी के 26 मई,दिन रविवार या 28 मई,दिन मंगलवार को शपथ ग्रहण के संयोग बनते हैं।

प्रश्न: आप भविष्यवाणी 26 तारिख या मंगलवार को ही क्यों करते हैं।

उत्तर: क्योंकि नंबर के स्वामी शनिदेव हैं और मंगलवार का दिन हनुमान जी का है।
मेरे इष्टदेव हनुमान जी और शनिदेव जी हैं तथा सब भविष्यवाणी मैं उन्ही की प्रेरणा से करता हूँ।


रिपोर्टर : सब कुछ भविष्य के गर्भ में है।
देखते हैं क्या होगा भविष्य में और कितनी सटीक होती है डॉ सुनील मग्गो की ये भविष्यवाणी और कैसे होते है चुनाव के परिणाम।

डॉ साहब आपका धन्यवाद और आपसे फिर मिलेंगे एक और भविष्यवाणी को लेकर।
डॉ सुनील मग्गो: धन्यवाद्

नई दिल्ली(23 अगस्त): यूपी में ये एक हफ्ते में दूसरा बड़ा ट्रेन हादसा है। औरैया के पास कैफियत एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतर गए हैं।

- बताया जा रहा है कि इंजन समेत 10 डिब्बे पटरी से उतरे हैं।

- हादसा ट्रेन के एक डंपर से टकराने की वजह से हुआ।

- हादसे में करीब 74 मुसाफिर घायल हो गए हैं। राहत और बचाव का काम जारी है। रेलवे के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।- हादसा रात को करीब 2 बजकर 50 मिनट पर हुआ।

प्रश्न: राजनितिक परिदृश्य से क्या संभावित है 2019 में।

उत्तर: 2019 राजनीतिक रूप से बहुत उथल पुथल वाला वर्ष रहेगा।

प्रश्न: इस वर्ष लोक सभा चुनाव भी हैं। अपने आपको सुदृड़ करती कांग्रेस क्या लौटेगी सत्ता में।
उत्तर: कांग्रेस अपने संघठन को अवश्य मजबूत करेगी।
जैसा मैंने पहले भी कहा है कि नं 47 गांधी परिवार के साथ जुड़ा रहा है।
प्रियंका गांधी 12 जनवरी 2019 को 47 वर्ष की होंगी और उनका होगा राजनीती में प्रवेश।

प्रश्न:तो क्या कांग्रेस फिर से सत्तारूढ़ होगी या कोई गठबंधन सरकार सत्ता हासिल करेगी।
उत्तर: जैसा मैंने पहले भी कहा है कि ये वर्ष राजनितिक उथल पुथल का वर्ष है। राजनितिक समीकरण अवश्य बदलेंगे और बदलेंगी परिस्तिथियाँ।

प्रश्न: मतलब
उत्तर: घटनाचक्र तेजी से बदलेगा। कुछ लोगों के राजनितिक जीवन ही नहीं अपितु जीवन पर भी कष्ट की संभावना है।

प्रश्न:आपका कहना है बदलाव आने वाला है और लोक सभा चुनाव के नतीजे के बारे में क्या कहना है आपका।
उत्तर: 9 फरवरी के बाद परिवर्तन के संकेत हैं। कुछ ऐसे हालात बनेंगे जिसका दूरगामी परिणाम होगा।
कुछ अप्रिय घटनाएं गृह युद्ध या युद्ध की तरफ भी देश को धकेल सकती हैं।

प्रश्न:क्या आपका इशारा पाकिस्तान से युद्ध होने की सम्भावना का है।
उत्तर: सम्भावना से इंकार नहीं किया जा सकता।

प्रश्न: एक आखिरी प्रश्न किसके पक्ष में आएंगे चुनाव के नतीजे।
उत्तर: इकतरफा होंगे चुनाव के परिणाम।
रिपोर्टर : स्ब कुछ भविष्य के गर्भ में है।
देखते हैं क्या होगा भविष्य में और कितनी सटीक होती है डॉ सुनील मग्गो की ये भविष्यवाणी।
डॉ साहब आपका धन्यवाद और आपसे फिर मिलेंगे एक और भविष्यवाणी को लेकर।
डॉ सुनील मग्गो: धन्यवाद्

Page 4 of 11
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…